असहाय जरूरतमन्द लोगों का पर्याय बना – “निवाला” (क्षुधा अमृत) 138वाँ दिन

“निवाला” (क्षुधा अमृत)
138वाँ दिन
स्थान- सूरजपोल, उदयपुर
एवं
महाराणा भूपाल चिकित्सालय, उदयपुर
+91-9351550038

“असल में स्थूलशरीर का जो अध्यात्म है, उसका नाम है—कर्म।”

आप कुरूप हैं या खूबसूरत हैं, इसका निर्णय कोई नहीं कर सकता। आपकी चमड़ी गोरी होने से या काली होने से कुछ नहीं होता। कर्म की वजह से आपके स्थूलशरीर के बारे में यह फैसला होगा कि आपका स्तर क्या है? और आपकी वकत क्या है? आपकी औकात क्या है?

आपकी वकत को शकल के आधार पर नहीं, सूरत के आधार पर नहीं, जवानी के आधार पर नहीं और रंग रूप के आधार पर नहीं, बालों के आधार पर नहीं, अन्य किसी आधार पर नहीं आँका जा सकता। असल में अगर शरीर का मूल्यांकन करना है तो अध्यात्म के आधार पर करना है। स्थूलशरीर का मूल्यांकन कर्म के आधार पर किया जा सकता है। इसलिए आप केवल कर्म की सफाई कीजिए।

“निवाला” भोजन कार्यक्रम के 138वें दिन ग़रीब जरूरतमन्द असहाय लोगों के मध्य हमारे इस संकल्प को शक्ति देने तथा प्रोत्साहित करने पधारें बार एसोसीएशन के पूर्व अध्यक्ष श्री महेन्द्र जी नागदा, श्री कपिल जी अग्रवाल, श्री यश जी तलदार साथ ही अपनी सुपुत्री का जन्मदिवस मनाने सपरिवार पहुँचे श्री प्रशान्त सिंह जी राठौड़ का विशेष धन्यवाद तथा समस्त निवाला मित्र परिवार का बहुत बहुत आभार अभिनंदन ।

निवाला भोजन कार्यक्रम के अंतर्गत निर्धन लाचार लोगों के मध्य अपने पिताजी स्व.श्री श्याम लाल जी खंडेलवाल की प्रथम पुण्यतिथि पर सपरिवार पधारे अधिवक्ता श्री प्रवीण जी खण्डेलवाल, श्री संजय जी खण्डेलवाल, श्रीमती वीणा जी खण्डेलवाल, श्रीमती सुप्रिया जी खण्डेलवाल, श्रीमती नीता जी खंडेलवाल एवं समस्त खण्डेलवाल परिवार का धन्यवाद एवं आभार ।

“निवाला” परिवार की तरफ़ से “प्यासे को पानी” ध्येय वाक्य को चरितार्थ करते हुए विगत 19 मई 2018 से महाराणा भूपाल राजकीय चिकित्सालय में ट्रोमा सेण्टर के बाहर प्रातः 8.00 बजें से सायंकाल 6.00 बजें तक शीतल पेय जल कि व्यवस्था की जा रही है । जिससे ग़रीब आदिवासी अंचल से आने वाले हज़ारों व्यक्तियों को इस भयंकर ग़र्मी में पेय जल उपलब्ध हो पा रहा है ।

“भूखें असहाय जरूरतमन्द लोगों को भोजन करवाने के इस नेक कार्य में रोज़ाना सायंकाल 6.30 बजें आप सादर आमन्त्रित है । इस व्यवस्था के अंतर्गत 200 लोगों को प्रतिदिन भोजन करवाया जाता है ।”

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *