शैलजा मर्डर: निखिल ने की थी सबूत मिटाने की कोशिश , धुलवाई थी खून से सनी गाड़ी

Mewar News – दिल्ली में आर्मी ऑफिसर मेजर अमित द्विवेदी की पत्नी शैलजा की हत्या के आरोप में गिरफ्तार मेजर निखिल हांडा के खिलाफ पुलिस को अहम सबूत मिले हैं. पुलिस ने आज मेजर निखिल हांडा को पटियाला हाउस कोर्ट में पेश कर दिया.

पुलिस ने बताया कि हत्या के बाद निखिल हांडा ने सबूत मिटाने की कोशिश भी की थी. इतना ही नहीं निखिल हांडा ने हत्या की इस वारदात को दुर्घटना का रूप देने की भी कोशिश की थी. वारदात के 24 घंटे में गिरफ्तार किए गए निखिल हांडा ने पुलिस ने अपना जुर्म कुबूल कर लिया है.

पुलिस का कहना है कि निखिल हांडा ने हत्या के बाद मेरठ फरार होने के दौरान अपनी कार धुलवाई थी, ताकि खून के निशान मिटा सके. हालांकि फोरेंसिक टीम ने निखिल हांडा की कार से खून के सात नमूने बरामद किए हैं. मैच करने पर ये नमूने शैलजा के ही पाए गए हैं.

निखिल हांडा ने शैलजा का मोबाइल भी तोड़कर डस्टबिन में फेंक दिया था, जिसे आज पुलिस ने बरामद कर लिया. इसके अलावा निखिल की कार से पुलिस ने शैलजा के बाल भी बरामद किए हैं. इतने सबूतों के बाद अब निखिल हांडा का बचना मुश्किल ही लग रहा है.

दोबारा घटनास्थल पर लौटा था मेजर निखिल

पुलिस ने जब शैलजा के पति मेजर अमित द्विवेदी से पूछताछ की तो उन्होंने बताया कि घटनास्थल पर उन्हें मेजर निखिल दिखाई दिया था. मतलब हत्या की वारदात को अंजाम देने के बाद मेजर निखिल वापस घटनास्थल पर लौटा था.

निखिल हांडा के दो रिश्तेदार भी शक के दायरे में

घटना से जुड़े नए सबूत मिलने के बाद अब इस हत्याकांड में निखिल के अलावा उसके दो और रिश्तेदार शक के दायरे में आ गए हैं. पुलिस ने बताया कि सोमवार को निखिल के चाचा और उसके भाई को भी हिरासत में लिया गया है. पुलिस अब यह जानने की कोशिश कर रही है कि क्या वाकई इस हत्याकांड में निखिल के अलावा उसके चाचा और भाई की भी कोई रोल है.

जबरन करना चाहता था शादी

पुलिस से पूछताछ के दौरान निखिल हांडा ने बताया कि दीमापुर पोस्टिंग के दौरान उसकी अमित द्विवेदी के परिवार से दोस्ती बढ़ी और पिछले तीन साल से उसका शैलजा के साथ प्रेम संबंध चल रहा था. लेकिन शैलजा के पति मेजर अमित को उनके संबंध के बारे में पता चल गया था. मेजर अमित ने शैलजा को मेजर निखिल से संबंध खत्म करने की चेतावनी भी दी थी.

पति से मिली चेतावनी के बाद शैलजा ने मेजर निखिल से अपने संबंध खत्म करना शुरू भी कर दिया था. लेकिन मेजर निखिल शैलजा के प्यार में पागल हो गया था और उससे शादी करना चाहता था. पुलिस ने बताया कि मेजर निखिल इस कदर शैलजा के प्यार में डूबा हुआ था कि उसने पिछले छह महीने के दौरान शैलजा को 3000 से भी अधिक बार कॉल किए थे.

घटना वाले दिन भी मेजर निखिल शैलजा पर शादी के लिए दबाव बना रहा था, लेकिन जब शैलजा नहीं मानी तो उसने चाकू से गला रेतकर उसकी हत्या कर दी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *