FIFA WORLD CUP 2018: मैक्सिको ने किया बड़ा धमाका, गत चैंपियन जर्मनी को 1-0 से हराया

फीफा वर्ल्‍डकप 2018 में मैक्सिको टीम ने गत चैंपियन जर्मनी को हराकर बड़ा धमाका किया है. ग्रुप एफ के तहत आज यहां खेले गए मैच में मैक्सिको टीम ने बेहतरीन खेल का प्रदर्शन करते हुए जर्मनी पर 1-0 से जीत हासिल की. मैच का एकमात्र गोल खेल के 35वें मिनट में हिरविंग लोजानो ने किया. उन्‍होंने हर्नांडेज के पास पर यह गोल दागा जो निर्णायक साबित हुआ.

फीफा वर्ल्‍डकप 2018 में मैक्सिको ने गत चैंपियन जर्मनी को हराकर बड़ा धमाका किया है. ग्रुप ‘एफ’ के तहत आज यहां खेले गए मैच में मैक्सिको टीम ने बेहतरीन खेल का प्रदर्शन करते हुए जर्मनी पर 1-0 से जीत हासिल की. मैच का एकमात्र गोल  खेल के 35वें मिनट में हिरविंग लोजानो ने किया. पूरे मैच के दौरान जर्मनी का खेल बिखरा हुआ नजर आया. उसके आक्रमण में पैनेपन का अभाव साफ नजर आया. दूसरी ओर मैक्सिको के खिलाड़ि‍यों ने लगातार आक्रमण करके उसकी रक्षापंक्ति को दबाव में रखा. मैच से पहले ज्‍यादातर खेलप्रेमी जर्मनी को जीत का दावेदार मान रहे थे लेकिन मैक्सिको ने सबको गलत साबित कर दिया.वर्ष 1985 के बाद से मेक्सिको की जर्मनी के खिलाफ यह पहली जीत है. लोजानो को उनके खेल के लिए मैन ऑफ द मैच घोषित किया गया.

मैच में जर्मनी और मैक्सिको, दोनों ही टीमें 4-3-2-1 के फॉर्मेशन के साथ उतरीं. मैच के बेहद तेज शुरुआत हुई. पहले तीन मिनट में दोनों ही टीमों को गोल करने का एक-एक मौका मिला लेकिन इसका फायदा नहीं उठाया जा सका. शुरुआती क्षणों में ही मैक्सिको के लोजानो को मौका मिला था लेकिन उनका किक गोल पोस्‍ट के ऊपर से निकल गया. आठवें मिनट में जर्मनी को कॉर्नर मिला लेकिन हम्‍मेल के शॉट में वह दम नहीं था कि यह खतरा बन पाता. जवाबी आक्रमण में मैक्सिको को फ्री किक मिली लेकिन मिगुए लायेन का शूट गोलपोस्‍ट के ऊपर से निकल गया. पहले 25 मिनट तक कोई भी टीम गोल अच्‍छे आक्रमण के बावजूद गोल नहीं कर पाई थी.खेल के 35वें मिनट में मैक्सिको के हिरविंग लोजानो के गोल से मैक्सिको ने 1-0 की बढ़त बना ली. लोजानो ने हर्नांडो के पास पर यह गोल किया.उन्‍होंने विपक्षी गोल क्षेत्र में प्रवेश करते हुए इतनी फुर्ती से शॉट लिया कि जर्मन गोलकीपर और रक्षापंक्ति हैरान रह गए.एक गोल से पिछड़ी जर्मनी ने 38वें मिनट में फ्री-किक हासिल की लेकिन गुलेरिमो आचोआ ने बेहतरीन बचाव कर खतरा टाल दिया. हाफटाइम तक लोजानो के गोल की बदौलत मैक्सिको 1-0 की बढ़त बना चुका था.पहले हॉफ में 59 फीसदी समय गेंद जर्मनी के कब्‍जे में रही लेकिन टीम टीम गोल नहीं कर सकी. दूसरी ओर मैक्सिको के 41 फीसदी समय गेंद पर कब्‍जा रखते हुए लोजानो के गोल से बढ़त हासिल कर ली.

दूसरे हाफ में भी लाजानो बाएं छोर से जर्मनी के लिए खतरा बने हुए थे. टीम को मिली बढ़त के बाद मैक्सिको के समर्थकों का शोर स्‍टेडियम में बढ़ता जा रहा था. दूसरे हॉफ के 12वें मिटन में जर्मनी के किमिच ने मैक्सिको के गोलक्षेत्र पर निशाना साधा लेकिन इसमें इतनी दम नहीं थी कि यह खतरा बन पाता. वक्‍त गुजरने के साथ जर्मनी पर दबाव बढ़ता जा रहा था. खेल के 60वें मिनट में उसने खेडिरा के स्‍थान पर रुईस को मैदान में उतरा.66वें मिनट में मैक्सिको ने भी बदलाव करते हुए गोल स्‍कोरर लोजानो की जगह रॉल को मैदान में उतारा.दूसरे हॉफ के 25वें मिनट में मैक्सिको की ओर से एक अच्‍छा हमला हुआ लेकिन हर्नांडेज ऑफसाइड पाए गए. आखिरी के क्षणों में जर्मनी ने अपनी ओर से पूरा जोर लगाया लेकिन उसके आक्रमणों में पैनापन नजर नहीं आया. 77वें मिनट में मैक्सिको के मिगुएल लायुन के पास गोल करने का मौका था लेकिन उनका किक गोलपोस्‍ट के ऊपर चला गया. आखिरी मैक्सिको टीम मैच को 1-0 से जीतने में सफल रही.

गौरतलब है कि कोच जोएचिम लोव की जर्मन टीम अपने पिछले छह अंतर्राष्ट्रीय मैचों में सिर्फ एक जीत हासिल कर पाई है वह भी सऊदी अरब जैसी कमजोर टीम के खिलाफ. इस टीम को हाल ही में विवाद का सामना भी करना पड़ा है. टीम के दो बड़े खिलाड़ियों- इल्के गुंडोगेन और मेसुट ओजिल को तुर्की के राष्ट्रपति से मुलाकात के बाद माहौल गरमा गया था और टीम के रूस पहुंचने तक भी यह विवाद हवा में था.जर्मनी ग्रुप ‘एफ’ के अपने अगले मुकाबले में शनिवार को स्वीडन से भिड़ेगी जबकि मेक्सिको का सामना दक्षिण कोरिया से होगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *